Home
इंजीनियर कैसे बने

इंजीनियर कैसे बने

इंजीनियर कैसे बने 

10+2 या HSC के बाद:

  • 10+2 या 12वीं या HSC में Physics, Chemistry व Maths विषय पढ़ें
  • एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी करें (JEE या CET या अन्य क्षेत्रीय टेस्ट)
  • अपने पसंद का कॉलेज या युनिवर्सिटी चुनें
  • चुनाव इन बातों पर करें (Selection Criterion) : आपकी रूचि, आपका लगाव, भविष्य के सपने, भविष्य के प्लान, कॉलेज की घर से दूरी व आने जाने की में लगने वाला समय व परेशानियाँ, हॉस्टल यदि जरुरत पड़े, फाइनेंस की उपलब्धता, बोर्ड व एंट्रेंस एग्जाम का रिजल्ट या ग्रेड
  • B.Tech या B.E के लिए अप्लाई करें
  • भारत में B.tech या B.E चार वर्ष का डिग्री प्रोग्राम लेवल का
  • इंजीनियरिंग पूरी करने के बाद आप कर सकते हैं –
    • नौकरी
    • व्यवसाय या रोजगार या स्वरोजगार
    • हायर एजुकेशन जैसे कि M.Tech या MBA

10वीं या SSC के बाद:

  • 10वीं में गणित व विज्ञान विषय पढ़ें
  • अगर जररत पड़े तो एंट्रेंस एग्जाम लिखें.
  • 10वीं का रिजल्ट आने के बाद डिप्लोमा इंजीनियरिंग में एडमिशन लें.
  • राज्य का टेक्निकल बोर्ड या पॉलिटेक्निक या युनिवर्सिटी कराता है.
  • अपने पसंद का पॉलिटेक्निक इंस्टिट्यूट या कॉलेज या युनिवर्सिटी चुनें
  • चुनाव इन बातों पर करें (Selection Criterion) : आपकी रूचि, आपका लगाव, भविष्य के सपने, भविष्य के प्लान, कॉलेज की घर से दूरी व आने जाने की में लगने वाला समय व परेशानियाँ, हॉस्टल यदि जरुरत पड़े, फाइनेंस की उपलब्धता, बोर्ड व एंट्रेंस एग्जाम का रिजल्ट या ग्रेड
  • डिप्लोमा इंजीनियरिंग के लिए अप्लाई करें
  • भारत में डिप्लोमा तीन वर्ष का प्रोग्राम का
  • डिप्लोमा इंजीनियरिंग पूरी करने के बाद आप कर सकते हैं –
    • नौकरी
    • व्यवसाय या रोजगार या स्वरोजगार
    • हायर एजुकेशन जैसे कि B.Tech

डिप्लोमा इंजीनियरिंग के बाद:

  • डिप्लोमा कोर्स पूरा करें
  • अगर जररत पड़े तो B.Tech. डिग्री के लिए एंट्रेंस एग्जाम लिखें.
  • अपने पसंद का कॉलेज या युनिवर्सिटी चुनें
  • चुनाव इन बातों पर करें (Selection Criterion) : आपकी रूचि, आपका लगाव, भविष्य के सपने, भविष्य के प्लान, कॉलेज की घर से दूरी व आने जाने की में लगने वाला समय व परेशानियाँ, हॉस्टल यदि जरुरत पड़े, फाइनेंस की उपलब्धता, बोर्ड व एंट्रेंस एग्जाम का रिजल्ट या ग्रेड
  • डिप्लोमा का रिजल्ट आने के बाद B.Tech. डिग्री इंजीनियरिंग में एडमिशन लें.
  • भारत में डिप्लोमा के बाद B.Tech. या B.E चार वर्ष का डिग्री प्रोग्राम लेवल का
  • इंजीनियरिंग पूरी करने के बाद आप कर सकते हैं –
    • नौकरी
    • व्यवसाय या रोजगार या स्वरोजगार
    • हायर एजुकेशन जैसे कि M.Tech या MBA

HELP

Visit contact page and call us or fill Inquiry form. कांटेक्ट पेज पर जाइए, इन्क्वायरी फॉर्म भरिए या हमें फोन कीजिए.

Also Read : How to become Engineer, How to become Jr. Engineer


 

लेखक : काउंसलर अरुण मिश्र  

Share
Share