Home
Success : Listening

Success : Listening


सफलता : Listening : सुनना 


Listening सुनना

सुनना भी एक कला है, एक हुनर है, सभी में नहीं होती, जिसमें होती है वो सफल होता है.

जब कैंडिडेट जॉब के लिए इंटरव्यू देने जाता है तो एम्प्लायर उसमे यह गुण देखता है.

किसकी सुनें ?

बॉस, क्लाइंट, कस्टमर, सहकर्मी, जूनियर या आधीनस्थ कर्मी, ऊपरी मैनेजमेंट, बोर्ड मैनेजमेंट की सुनें.

समाज व घर में बड़ों की सुनें, सगे संबंधी व मित्रों की सुने, जीवन साथी की सुनें, छोटों की सुनें.

क्या सुनें ?

सामने वाले कि बात सुनें. बात में भी बात होती है जिसमे संदेश होता है, दिशा होती है, आदेश होता है, सीख होती है. बात की बात भी सुनें व समझें.

कैसे सुनें ?

सामने वाले को बोलने दें. वह जो बोल रहा है उसपर ध्यान दें, अटेंशन दें. हो सकता है कि उसकी भाषा, लैंग्वेज, ग्रामर या शब्द सही से समझ में न आएं. जितना समझ में आए उतना ठीक है. जो न समझ में आए उसे दुबारा पूछें व कंफर्म करें.

जिसकी बात सुन रहे हैं उसकी तरफ देखें. आप की आंखें, चेहरे के हाव भाव, gesture व बॉडी लैंग्वेज से पता चलता है कि आप कितना ध्यान से सुन रहे हैं व कितना समझ रहे हैं. आप का बात सुनने में अटेंशन होना चाहिए और दिखना भी चाहिए.

आप सुनी हुई बात को अपने शब्दों में दुहरा सकते हैं, जिससे सामने वाला कंफर्म कर सके कि आप उसकी बात ठीक से समझ गए हैं.

सामने वाले की बात सुनें, साथ ही साथ उसकी आंखें, चेहरा, हाथ आदि के हाव भाव भी देखते रहें. इससे बात समझने में हेल्प होगी.

कोई विदेशी जो आप की भाषा नहीं जानता आपसे पानी अपने हाथ के इशारे से ही मांग पाएगा. इसलिए बॉडी लैंग्वेज भी देखें व समझें.

पूरी बात सुनें फिर जबाब दें. जल्दबाजी न करें.

सुन कर क्या करें ?

अगर बात लंबी है और भूल सकते हैं तो उसे नोट कर लें.

सुन कर बात के अनुसार उस पर उचित अमल करें. अगर बॉस या बड़ों का आदेश है तो पालन करें, अगर संदेश है तो समझ लें, अगर सीख है तो सीख लें, अगर मजाक है तो हंस ले आदि.

अगर बात से असहमत हों तब क्या करें ?

अपनी असहमति बता दें पर समय और स्थान का ध्यान रख कर बताएं. अधिकतर समय आप समय लें, तुरंत react न करें, बाद में सोच समझ कर अपनी असहमति समझा दें.

सफलता मिलेगी ?

अवश्य मिलेगी. सफलता का #अरुणोदय होगा. आप सफल होंगे.

आप शिक्षा प्रसार में सहयोगी बनें

यह शिक्षा पोस्ट है. IIM जैसे मैनेजमेंट कॉलेज में पढ़ाए जाने वाले MBA का communication विषय है. आप अपने भाई बहन बच्चों व मित्रों से शेयर करें.


HELP ?

  • हम आपकी मदद करेंगे.
  • हम आपके strength, weakness, interest, dreams, skills आदि को समझेंगे
  • आपको सही कोर्स, सही कॉलेज व सही युनिवर्सिटी चुनने में हेल्प करेंगे.
  • आपको एडमिशन व कोर्स पूरा करने में गाइड करेंगे.
  • कोर्स पूरा होने पर प्लेसमेंट या नौकरी के लिए मदद करेंगे.
  • Contact us by email or sms or whatsapp or phone or contact form.

Visit contact page and call us or fill Inquiry form.


 

Counselor Arun Mishra


Share
Share